pixel What is web hosting and how web hosting works in Hindi ? | जानिए वेब होस्टिंग के बारे में सारी जानकारी |

What is web hosting and how web hosting works in Hindi ? | जानिए वेब होस्टिंग के बारे में सारी जानकारी |

What is Web Hosting and How Web Hosting Works (Fully Explained in Hindi)?

नमस्कार दोस्तों आज हम Web Hosting के बारे में सारी जानकारी देंगे | दोस्तों जैसा की आप सभी जानते ही हैं जैसे-जैसे Technology में विकास हो रहा है, वैसे-वैसे हमारी ज़िंदगी भी बहुत आसान होती जा रही है | उदाहरण के लिए आप Facebook को ही ले लीजिए, कभी हम अपने ऐसे परिजनों या दोस्तों से बात भी नहीं कर पाते थे जो की बहार रहते थे लेकिन अब हम उनसे बात तो कर ही सकते हैं और उसके साथ-साथ Video Calling की मदद से कभी भी और कहीं भी उसने आमने-सामने बात कर सकते हैं | लेकिन क्या दोस्तों आपने कभी यह जानने की कोशिश करी की आखिर हम ऐसा कैसे कर पाते हैं | आपने कभी यह जानने की कोशिश की इंटरनेट पर हम कैसे इतनी सारी चीज़ें देख और Download कर पाते हैं और आखिर यह सब चीज़ें मौजूद कहाँ होती हैं | दोस्तों आज हम आपको इन्ही सवालों का जवाब देना चाहते हैं जिसके बाद आप जान जाएँगे की आखिर इंटरनेट पर यह सब चीज़ें मौजूद कहाँ होती है और यह कैसे हमे हमारे मोबाइल या कंप्यूटर पर दिखती हैं और Download होती हैं | दोस्तों यदि आप यह सब जानना चाहते हैं तो बस हमारे इस पोस्ट को पूरा पढ़ें |

What is Web Hosting?(वेब होस्टिंग क्या है )


Web Hosting Basically एक ऐसी जगह होती है जहाँ लोग अपनी Websites को Store को करते हैं | यह Basically एक ऐसी जगह होती है जहाँ किसी Website में इस्तेमाल की जाने वाली फाइल्स Store होती है जैसे की HTML, Documents, Images, Videos, etc.| 

"Web Hosting" ऐसी Companies होती हैं जो की अपने Computer/Server पर Websites को Store करने के लिए खाली Space Provide कराती हैं और internet Connectivity देती हैं जिससे की दूसरे Computers internet की मदद से उस Website की फाइलों को Access कर सके मतलब की उन फाइल्स को देख सकें और Download कर सके |
सीधे और आसान शब्दों में आप यह कह सकते हैं की “Web Hosting आपकी वेबसाइट की फाइल्स को Store रखने का वो Space जो की Web Hosting Companies आपको Provide कराती हैं और जिसकी मदद से और लोग उस Website के Content को Access कर पाते हैं |
इसे भी पढ़ें - What is SSL Layer and How it Works in Hindi?

How Web Hosting Works? (वेब होस्टिंग कार्य कैसे करती है )

Hosting Service Provide करने वाली कम्पनी आपकी वेबसाइट फाइल्स को अपने Web Servers (उच्च स्तरीय कम्प्यूटर्स ) पर Store कर देती है | जब कोई भी व्यक्ति आपकी वेबसाइट तक पहुँचने के लिए उसका Address या URL अपने Browser में लिखता है, तब ये Web Servers उस ग्राहक के अनुरोध को स्वीकार करते हुए उसके कंप्यूटर तक आपकी वेबसाइट फाइल्स की एक कॉपी पहुँचा देते है, जिसके परिणामस्वरूप उस व्यक्ति के कंप्यूटर पर आपकी वेबसाइट खुल जाती है और वह व्यक्ति आपकी उस Website को Access कर पाता है |

Types of Web Hosting(वेब होस्टिंग के प्रकार)

Web Hosting Basically तीन प्रकार की होती है - 

1. Shared Server Hosting

यह होस्टिंग बिलकुल एक हॉस्टल में रहने के सामान है मतलब की जिस प्रकार हमे हॉस्टल में  बहुत से दूसरे लोगों के संग रहने का स्थान बाँटना पड़ता हैं ठीक उसी प्रकार इस होस्टिंग में एक Server पर बहुत सारी Websites को रखा जाता है । Shared Server इन सभी Websites को Web Space और CPU, RAM जैसे Resources को एक साथ इस्तेमाल करने की सुविधा उपलब्ध कराता हैं जिसके परिणाम स्वरूप इस होस्टिंग की लागत बाकी दोनों प्रकार की Hostings से कम होती है।

अगर आपका एक सीमित बजट है या आपका Start-Up है और आपको लगता है कि आपकी Website पर आने वाला Traffic सीमित रहेगा तो आपके लिए यह होस्टिंग एक बहुत बढ़िया विकल्प है |

2. Virtual Private Server (VPS) Hosting

इस प्रकार की होस्टिंग बिलकुल एक होटल के Room में रहने के सामान है, जहाँ आपके Room की सारी चीज़ों पर बस आपका ही हक़ होता है | VPS होस्टिंग में Virtualization तकनीक का प्रयोग किया जाता है, जिसमे एक Strong और Secure Server को Virtually अलग-अलग Servers में Divide किया जाता है, जिसके परिणाम स्वरूप एक ही Server पर होते हुए भी बाकी Websites आपके हिस्से के Web Space और Resources का उपयोग नहीं कर पाती हैं | यहाँ आपको दूसरों की Websites के साथ Sharing नहीं करनी पड़ती है जिससे की आपकी Website की Performance बड जाती हैं | यह होस्टिंग और Hostings के मुकाबले थोड़ी महँगी होती है |

3. Dedicated Server Hosting 

यह होस्टिंग बिलकुल एक बंगले में रहने के समान है जहाँ किसी और को रहने के लिए इजाज़त नहीं होती | Dedicated होस्टिंग में जो Server होता है उसमे सिर्फ एक ही Website की Files Store होती हैं और यह सबसे तेज़ Server होता है | इसमें भी Sharing नहीं होती है, लेकिन यह सबसे महँगी होस्टिंग है क्योंकि इसका पूरा Rent केवल एक ही व्यक्ति को भरना पड़ता है | यह होस्टिंग Basically उन लोगों द्वारा ज़्यादा इस्तेमाल की जाती है जिनकी Website पर हर महीने ज़्यादा Visitor आते हैं और ये केवल उन्ही व्यक्तियों के लिए सही है जिनकी Website पर ज़्यादा Traffic आता है | Flipkart, Amazon, Snapdeal, आदि जैसी e-commerce site इसी होस्टिंग का इस्तेमाल करती हैं | 

Where to Buy Web Hosting?

Web Hosting लेने से पहले आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए की आपके लिए कौन-सी होस्टिंग ज़्यादा Better रहेगी | वैसे Web Hosting बहुत सारी Web Hosting Companies Provide कराती हैं जिनमे से कुछ के नाम इस प्रकार हैं - GoDaddy, BigRock, Verisign, Comodo आदि | जब भी हम अपनी Website के लिए किसी Hosting Server को खरीदते हैं तो हमे वो Hosting कंपनी भी SSL Certificate Provide कराती है लेकिन इसके लिए हमे उस कंपनी को थोड़ी ज्यादा रकम चुकानी पड़ती है क्योंकि SSL Certificate का दाम हर Hosting कंपनी मे अलग अलग होता है | यदि आप किसी ऐसी Website के मालिक हैं जिसमे आप लोगों को Online Shopping या Online Banking जैसी सुविधाएँ उपलब्ध कराते हैं या फिर ऐसी कोई भी Service Provide कराते हैं जिसमे की लोगों को अपनी Personal Information को Enter करना पड़े तो आपके लिए और आपकी website के लिए SSL Certificate का होना बहुत ज़रूरी हो जाता है क्योंकि आजकल इससे ही लोगों का Trust आप पर और आपकी उस Website पर बना रहता है जिसमे आपने SSL Service या SSL Certificate लिया है | 

You must know these things before buying a Hosting

Diskspace - जिस प्रकार आपके Computer में Space होता है ठीक उसी प्रकार होस्टिंग कंपनी भी अपने Server पर आपको जो Space Provide कराती है वो Diskpace कहलाता है |

Bandwidth - एक Second में आपकी Website को कितने लोग Access कर सकते हैं या देख सकते हैं यह Bandwidth से Possible होता है | मान लीजिए की यदि आपकी Website को ज़्यादा लोग Visit कर रहें हैं तो आपकी Website कुछ लोगों के लिए unavailable हो सकती है |

Uptime - आपकी Website जितने Time ऑनलाइन या Available रहती है उसे Uptime कहा जाता है | कभी-कभी जब आपकी Website खुल नहीं पाती है तो उसे Downtime कहा जाता है |

उम्मीद करते हैं दोस्तों की अब आपको अच्छे से समझ आ गया होगा की Web Hosting होती क्या है |

दोस्तों यदि आपका कोई सवाल हो तो आप हमसे नीचे Comment Box में Comment करके पूछ सकते हैं |

नीचे दिए गए पोस्टों को भी ज़रूर पढ़ें - 

1.) What is encryption and decryption in Network Security in Hindi?

2.) What is Cryptography and its types?

3.) How to Remember Your Parking Spot using Google Map on Your Android Phone?

अगर आपको यह Post and Video अच्छा लगा तो लाइक करना ना भूलें। और यदि आप Internet और Computer के बारे में सीखना और जानना चाहते है तो कृपया Facebook k Like बटन में क्लिक करे। Happy Learning
Technology के बारे में रोज कुछ न कुछ नया सीखने के लिए youtube में यहाँ से subscribe करें ==>>
★★★★★
Your Comment For This Post..?