What is the difference between Systematic Investment Plan (SIP) and Recurring Deposit (RD) in Hindi ?

What is the difference between Systematic Investment Plan (SIP) and Recurring Deposit (RD)

नमस्कार दोस्तों आज हम आपको इस पोस्ट में बतायेंगे : -What is the Difference between Systematic Investment Plan (SIP) and Recurring Deposit (RD) यानी कि Systematic Investment Plan (SIP) or Recurring Deposit (RD) में क्या अंतर है |

आप सभी लोगो के मन में Money Saving का ख्याल तो आता ही होगा. हम में से सभी लोग प्रीतिदिन के खर्चे में से कुछ धन बचाने की तो अवश्य सोचते है. क्योकि हमे नही पता कब हमें पैसों की जरुरत पड़ जाये. इसलिए आजकल हर एक इंसान अपने खर्चे में बचत करने लगा है | इसलिए इस पोस्ट में हम आपको SIP और RD के बारे में बतायेंगे और उसके बाद SIP और RD के बीच का अंतर बतायेंगे | वैसे यह दोनों Investment के तरीके है | 

What is Systematic Investment Plan (SIP) ?

SIP का मतलब होता है “Systematic Investment Plan” अर्थात् व्यवस्थित निवेश योजना | SIP Mutual Fund में Invest करने का एक रास्ता है, जिसके द्वारा आप एक निश्चित राशि को, एक निश्चित समय पर अपने पसंद के Mutual Fund में Invest कर सकते हैं | SIP नियमित रूप से निवेश के सिद्धांत पर काम करता है | यह Recurring Deposit यानी RD की तरह ही है जिसमें आपको हर महीने कुछ छोटी धनराशि डालनी होती है | SIP आपको एक Mutual Fund में एक साथ 5,000 रूपए के Investment की बजाय 5000 रूपये को 10 हिस्सों में बाँट कर Invest करने की सुविधा देती है, जिससे आप अन्य वित्तीय जिम्मेदारियों को प्रभावित किए बिना ही अपने Mutual Fund में Invest कर सकते हैं |

आमतौर पर यह निश्चित राशि कम से कम 500 रूपए की हो सकती है और आप इस धनराशि को हर हफ्ते, हर महीने या हर तीन महीने में invest कर सकते हैं | जब आप SIP (Systematic Investment Plan) की शुरुआत करते हैं तो आपको अपने Mutual Fund House को यह बताना होता है की यह SIP एक निश्चित अवधि (Fixed Duration) के लिए है या यह लगातार (Perpetual) SIP है | यहाँ निश्चित अवधि 6 महीने की भी हो सकती है और 1, 2, 3, 5 या इससे भी अधिक साल तक | Perpetual SIP में आप जब भी अपनी SIP को रोकना चाहें, तब आप अपने Mutual Fund House को इसकी जानकारी देकर अपनी SIP को बड़ी ही आसानी से रोक सकते हैं | SIP द्वारा Invest करने से Invest करना और भी आसान हो जाता है तथा इसमें Risk भी कम हो जाता है |

SIP में आप हर महीने एक निश्चित राशि से किसीं कंपनी के फंड में निवेश कर सकते हैं और उससे Units खरीद सकते हैं | उदाहरण - यदि किसी कंपनी के फंड का NAV (Net Asset Value) Rs.10 है तो Rs.1000 निवेश के बदले आपकों 100 Unit आपके खाते में प्राप्त हो जाएँगे | जब आप Scheme से बाहर निकलना चाहे तो अपनी Units को उस समय के बाजार भाव पर बेचकर मुनाफा प्राप्त कर सकते हैं | मान लीजिए की आपके पास Rs.50,000 हैं Invest करने के लिए तो आप इन्हें एक ही दिन निवेश ना करके SIP में Rs.5000 प्रति माह के हिसाब से 10 महीने तक निवेश कर सकते हैं |

What is Recurring Deposit ?

Recurring deposit को short form में RD कहा जाता है | Recurring deposit एक ऐसा Saving account है | जिसमे धन बड़ी ही जल्दी बढ़ता है , मगर Income Tax में छुट नहीं मिलती है | यह सुविधा ख़ासकर उन लोगो के लिए फ्यादेमंद है | जिनकी महीने की Salary कम होती है | और वो Investment पर एक अच्छे return की उम्मीद करते है | इन्टरनेट के माध्यम से ही आप Recurring deposit account खोल सकते है | यह सुविधा Net banking में काम कर रहे सभी बैंक आपको प्रदान करते है | 
Recurring deposit में हर एक महीने एक  Fixed amount जमा करनी होती है | इसलिए इस amount के अनुसार ही Interest भी मिलता है | इसे आप लम्बे समय तक जारी रख सकते है और आपको अवधि खाता खोलने समय ही तय करनी पड़ती है | और अवधि ख़तम होने पर ही आपको ब्याज समेत Payment मिल जाती है | 

Recurring deposit एक ऐसी सुविधा है जिसके द्वारा हम थोडा थोडा धन आसनी से बचा सकते है | आपकी जरुरत को पूरा करने के लिए ये सबसे अच्छा रास्ता है | Recurring deposit account खुलवाने के लिए आप 100 से लेकर 1 लाख रुपैये हर महीने जमा कर सकते है | इससे जमा करने का समय 6 महीने तथा अधिक 10 वर्ष तक होती है | इस राशि को आपको 6.5 से 11% तक का ब्याज मिलता है | 

for example:-  मान लीजिये कि आपने दो साल के लिए हर महीने 1000 Rs की RD खुलवा रखी है | तो आपको दो साल तक हर महीने 1000 Rs RD में जमा करने होंगे | जैसे ही दो साल पुरे हो जाते है आपको 2 साल तक 1000 Rs के हिसाब से जितने RS आपके होते है वो तो आपको मिलेंगे ही मिलेंगे | और साथ ही साथ आपको 2 साल तक जमा किये गए 1000 rs का Interest rate भी मिलता है | 

अब आगे हम आपको SIP और RD के बीच का अंतर बताने जा रहे है इसलिए इस पोस्ट को अंत तक पढ़े |  

Difference Between Systematic Investment Plan(SIP) and Recurring Plan (RD)

SIP एक ऐसा investment है जिसमे कि आप निश्चित राशि , निश्चित Interval पर अपने पसंद के Mutual Fund में Invest कर सकते है | 

RD एक विशेष प्रकार का deposit है जिसमे आप निश्चित राशि हर महीने निश्चित अवधि (3 या 5 साल ) आदि पर निश्चित Interest rate पर किसी बैंक या Post Office में जमा करा सकते है | 

On the Basis of Return :-

SIP में बहुत सारे Large Cap ने अपने Investor को 12 - 15.5 % p.a के Return basis पर कमा के देते है | 

RD में 5.75 - 7.25 % p.a के हिसाब से बैंक या पोस्ट ऑफिस अपने Investor को RD offer करते है | 

SIP market Linked होता है और वही RD Fixed Income पर Linked होता है | 

Investment Amount :- 

SIP में Minimum Investment amount 500 rs है 

और RD में minimum investment amount rs 10 है लेकिन कई बैंक अलग अलग ही होते है जो की 10 rs की RD करने का offer देते है | 

Interest basis :- 

अगर आपकी SIP mutual fund में है तो 1 साल के बाद अगर आप अपनी investment को Reedem करते है तो कोई Tax नहीं लगेगा | अगर एक साल के अन्दर Reedem करते है तो आपको Flat 15 % tax भरना पड़ता है | 

RD में जो भी Interest Income RD से कमाते है वो आपके Tax slab के हिसाब से Taxable होती है | जब भी यह Tax slab Income 10,000 से ऊपर हो जाती है तो बैंक आपसे 10 % के हिसाब से TDS काटता है | यदि आपने Pan number दे दिया हो और यदि आपने Pan number ना दिया हो तो बैंक आपसे 20 % के हिसाब से TDS काटता है | 

Risk:-

SIP में हमेशा Risk high होता है क्युकी ये आपका पैसा Share market में लगाते है | 

RD में बिलकुल भी Risk नहीं होता है |  

Installment frequency :-

Recurring Deposit आम तौर पर मासिक किश्तों के साथ आती है | 

SIP  रोजाना , हफ्तों , मासिक या त्रिमासिक आदि की लिच्ले किश्त योजना प्रदान करती है | 

Investment Goal:-

RD आमतौर पर short term Saving  लक्ष्य प्रदान करते हैं और Long term धन वृद्धि में मदद नहीं करते हैं।

SIP सभी प्रकार के Investment goal में मदद करती है चाहे वो लघु या लंबी अवधि का हो मगर यह in चीजों पर निर्भय करती है Investment की frequency, चुने गए fund और अन्य factor |

Investment Type :-

RD योजना में, Investor को हर महीने एक निश्चित राशि जमा करनी होती है |

SIP योजना Mutual Fund पर अपना पैसा लगाने का एक तरीका है | आप आपने पैसे को Invest  - दैनिक, साप्ताहिक, मासिक या त्रैमासिक के आधार पर भिओ कर सकते हो | 

Disclaimer - Mutual Fund Investments Are Subject To Market Risk. Read All Scheme Related Documents And Information Carefully Before Investing.

हमारे द्वारा बताये गए कुछ points को पढ़कर आपकी समझ में आ गया होगा कि SIP और RD में क्या difference है | 

दोस्तों उम्मीद करते है आप समझ गए होंगे :- What is the difference between Systematic Investment Plan (SIP) and Recurring Deposit (RD) in Hindi 

यदि आप चाहे तो निचे दी गयी पोस्टो को भी पढ़ सकते है | 




अगर आपको यह Post and Video अच्छा लगा तो लाइक करना ना भूलें। और यदि आप Internet और Computer के बारे में सीखना और जानना चाहते है तो कृपया Facebook k Like बटन में क्लिक करे। Happy Learning
Technology के बारे में रोज कुछ न कुछ नया सीखने के लिए youtube में यहाँ से subscribe करें ==>>
★★★★★
Your Comment For This Post..?